आधुनिक भारतः मुगल साम्राज्य का पतन के कारण क्या थे

अन्य संबंधित महत्त्वपूर्ण तथ्य- मुगल शासक हुमायूँ का इतिहास मुगल वंश का संस्थापकः बाबर( 1526-1530 ) शेरशाह सूरी कौन था शेरशाह कालीन प्रशासन 3 मार्च, 1707ई. को अहमदनगर में औरंगजेब …

Read More

महावीर जयंती 29 मार्च 2018

धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर या वर्धमान महावीर की जयंती हर साल दुनिया भर में पूरे हर्षोल्‍लास के साथ मनाई जाती है। जैन धर्म के प्रवर्तक महावीर ने लोगों …

Read More

मुहम्मद बिन कासिम : भारत पर आक्रमण करने वाला पहला विदेशी

मुहम्मद बिन कासिम इस्लाम के शुरुआती काल में उमय्यद खिलाफत का एक अरब सिपहसालार था। मुहम्मद बिन कासिम ने भारत के पश्चिमी क्षेत्रों पर हमला बोल दिया। तथा सिंधु नदी …

Read More

शाक्त धर्म का अर्थ क्या है

शाक्त सम्प्रदाय  हिंदू धर्म के तीन प्रमुख सम्प्रदायों (भागवत , शैव , शाक्त ) में से एक है। इस धर्म में सर्वशक्तिमान को पुरुष न मानकर देवी माना गया है। …

Read More

भागवत एवं शैव धर्म : महत्त्वपूर्ण तथ्य

भागवत धर्म – इस धर्म का उद्भव मौर्योत्तर काल में हुआ। इस धर्म के विषय में प्रारंभिक जानकारी उपनिषदों में मिलती है। इस धर्म के संस्थापक वासुदेव कृष्ण थे जो …

Read More

शैव सम्प्रदाय का परिचय और महत्त्वपूर्ण तथ्य

शैव धर्म- शिव भक्ति के विषय में प्रारंभिक जानकारी सिंधुघाटी से प्राप्त होती है। ऋग्वेद में शिव से साम्य रखने वाले देवता को रुद्र कहा गया है। महाभारत में शिव …

Read More

प्राचीन भारत के धार्मिक आंदोलन

अन्य संबंधित लेख  सिंधु घाटी सभ्यता से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य आहत सिक्के (पंचमार्क सिक्के) प्राचीन भारत के इतिहास के अध्ययन के स्रोत 600 ई. पू. में भारत में एक धार्मिक …

Read More

जैन धर्म : महत्त्वपूर्ण प्रश्न एवं उत्तर

जैन धर्म से संबंधित महत्त्वपूर्ण प्रश्न , जो कई परीक्षाओं में बार-2 पूछे जाते हैं। अन्य संबंधित लेख  बौद्ध धर्म से संबंधित महत्त्वपूर्ण प्रश्न एवं उत्तर महाजनपद काल से संबंधित …

Read More

जैन धर्म का पतन क्यों हुआ

जैन धर्म भारत भूमि में जन्मा एक महत्त्वपूर्ण धर्म था।महावीर स्वामी के जीवन काल में इस धर्म का अच्छा प्रचार-प्रसार हुआ।उनकी मृत्यु के बाद भी कुछ दिनों तक जैन धर्म …

Read More

जैनधर्मः 23 वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ कौन थे

जैन धर्म  के 23वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ  का जन्म वाराणसी में हुआ। इनके पिता का नाम अश्वसेन तथा माता का नाम वामादेवी था। राजा अश्वसेन वाराणसी के राजा थे। जैन पुराणों …

Read More