पूर्ण स्वाधीनता (स्वराज)

पूर्ण स्वाधीनता (स्वराज)का प्रस्ताव की माँग किस अधिवेशन में की गई

31 दिसंबर 1929 को काँग्रेस के लाहौर अधिवेशन में जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में प्रस्ताव पारित कर भारत के लिए पूर्ण स्वराज की मांग की गई थी। नेहरू ने कहा था, “हमारा लक्ष्य सिर्फ स्वाधीनता प्राप्त करना है। हमारे लिए स्वाधीनता ही, पूर्ण स्वतंत्रता है।”

Read More
नेहरू रिपोर्ट

नेहरू रिपोर्ट किसने तैयार की थी

जब भारतीय साइमन कमीशन का बहिष्कार कर रहे थे। तो उस समय भारत सचिव ने भारतीय नेताओं को यह चुनौती दी थी, कि यदि वे विभिन्न संप्रदायों की सहमति से एक संविधान तैयार कर सकें तो इंग्लैण्ड की सरकार उस पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने को तैयार रहेगी।

Read More
शहीद दिवस

शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है

सबसे पहला शहीद दिवस जिसे सर्वोदय दिवस( sarvoday divas ) भी कहते हैं,30 जनवरी को मनाया जाता है। दूसरा शहीद दिवस 23 मार्च को मनाया जाता है। दोनों ही शहीद दिवस अलग-2 तारीखों पर अलग-2 वजहों से मनाये जाते हैं।

Read More
साइमन कमीशन

साइमन कमीशन भारत से वापस क्यों गया

1919 के भारत शासन अधिनियम में कहा गया था कि अधिनिमयम के पारित होने के दस वर्ष बाद एक संवैधानिक आयोग की नियुक्ति की जायेगी, जो इस बात की जाँच करेगा कि अधिनियम व्यवहार में कहाँ तक सफल रहा है।तथा भारत उत्तरदायी शासन की दिशा में कहाँ तक प्रगति करने की स्थिति में है।

Read More
असहयोग आंदोलन

असहयोग आंदोलन (1920-21)के क्या कारण थे

कलकत्ता में काँग्रेस के विशेष अधिवेशन (1920) में पास हुआ असहयोग आंदोलन संबंधी प्रस्ताव का दिसंबर,1920 में नागपुर में हुए काँग्रेस के वार्षिक अधिवेशन में पुष्टि की गई।

Read More
खिलाफत आंदोलन

खिलाफत आंदोलन के प्रमुख कारण क्या थे

तुर्की का सुल्तान विश्व के मुसलमानों का खलीफा (धार्मिक नेता) समझा जाता था।प्रथम विश्व युद्ध (First world war)में तुर्की जर्मनी (Germany)का साथ देते हुए इंग्लैण्ड(England) के विरुद्ध लङा।

Read More
जलियाँवाला बाग हत्याकांड

जलियाँवाला बाग हत्याकांड क्या था इन हिन्दी

महात्मा गाँधी(Mahatma Gandhi) की गिरफ्तारी की खबर सारे देश में बिजली की तरह फैल गई। अमृतसर(Amritsar) में भी उत्तेजना फैल गई।जनता के असंतोष को व्यक्त न होने देने के लिए …

Read More
रॉलेट-एक्ट

रॉलेट-एक्ट क्या था एवं कब पारित किया गया

फरवरी, 1919 में न्यायाधीश भारत सरकार ने दो विधेयक प्रस्तावित किये, जो पारित होने के बाद रॉलेट-एक्ट के नाम से विख्यात हुए।इसके अनुसार किसी भी व्यक्ति पर संदेह मात्र होने पर उसे बंदी बनाया जा सकता था और बिना मुकदमा चलाये, उसे चाहे जितने समय तक जेल में रखा जा सकता था।

Read More
बाल गंगाधर तिलक

बाल गंगाधर तिलक का राष्ट्रीय आंदोलन में योगदान

ल गंगाधर तिलक (Bal Gangadhar Tilak)का जन्म 23 जुलाई,1856 को महाराष्ट्र (Maharashtra)के रत्नगिरी में एक चितपावन ब्राह्मण परिवार में हुआ था।उनके पिता का नाम गंगाधर रामचंद्र शुक्ल (Gangadhar Ramchandra Shukla)था, जो संस्कृत के विद्वान थे।

Read More
लखनऊ समझौता

लखनऊ समझौता(अधिनियम) क्या था

काँग्रेस व मुस्लिम लीग ने एक संयुक्त समिति बुलाई, जिसने दोनों संस्थाओं में मेल उत्पन्न करने हेतु एक योजना तैयार की। इस योजना को काँग्रेस लीग योजना कहते हैं।

Read More